top of page

।।देव दीपावली।।



मंगलवार को भरणी नक्षत्र इस वर्ष देव दीपावली पड़ रही है। 8 नवंबर को देव दीपावली का शुभ मुहूर्त विवाह आदि शुभ कार्यों में प्रशस्त है किंतु इस वर्ष चंद्रग्रहण पड़ने से यह मुहूर्त दूषित हो गया है।


चंद्रग्रहण का समय :


खग्रास चंद्रग्रहण का प्रारंभ चंद्रोदय के साथ साँय 5:47 बजे से शुरू होगा तथा मोक्ष 6:20 बजे पर होगा तथा विरल छाया से निर्गम साँय 7:30 बजे होगा। भारत में यह ग्रस्तोदय दृश्य होगा।


यह ग्रहण भारत सहित नेपाल, ग्रीनलैंड, उत्तरी अमेरिका, कनाडा, न्यूज़ीलैंड, ऑस्ट्रलिया, रुस, चीन, जापान, अफ़ग़ानिस्तान एवं ईरान आदि सभी देशों में खग्रास, ग्रस्तोदय और ग्रस्तास्त, किसी ना किसी रूप में दिखाई देगा।


चंद्रग्रहण का राशिफल:


मेश, वृष, कन्या एवं मकर - नेस्ट (अशुभ)

मिथुन, कर्क, वृश्चिक, कुंभ - शुभ (सुखद)

सिंह, तुला, धनु, एवं मीन - सामान्य (मध्यम )


विशेष:- कार्तिक मास में द्विग्रहण योग जान सामान्य हेतु रोगकारक एवं पर्यावरण प्रदूषण प्रकोप कारक है। सामान्य रूप से देशवासियों हेतु पीड़ादायक बाद में मंगलकारी होंगे।

चंद्रग्रहण के समय में शास्त्र के अनुसार क्या करें?

अपने इष्टदेव के मंत्र या फिर गुरु द्वारा बताये गये मंत्र का जप करें। कुंडली के अनुसार ग्रहों की पीड़ा दूर करने के लिए भी जप किया जा सकता है।


ग्रहण के दौरान उपवास रखे। ग्रहण के दिन समय या फिर ग्रहण के उपरान्त दान ज़रूर करना चाहिए।

ग्रहण में क्या नहीं करें

  • ग्रहण के समय शास्त्र के अनुसार ख़ाना ख़ाना वर्जित है।

  • शौच क्रिया भी नहीं करना चाहिए।

  • शयन भी नहीं करना चाहिए। अध्ययन के लिए भी शास्त्र में वर्जित किया गया है।

  • बच्चे, वृद्ध और गर्भिणी महिलाये परिस्थितियों के अनुसार कार्य कर सकते हैं।

168 views0 comments
bottom of page